अवधेश कुमार

स्वतंत्र पत्रकार
मुख्यमंत्री और सत्तारूढ़ पार्टी अगर चुनाव की सुरक्षा ड्यूटी में लगे सुरक्षा बल को ही अपराधी घोषित करने लगे तो फिर कानून...
गोलीबारी में घिरने के बाद भी जवानों ने पूरी वीरता से सामना किया, अपने साथियों को लहूलुहान होते देखकर भी हौसला नहीं खोया,...
2014 में जब उनकी मृत्यु हो गई तो उनकी पत्नी ममता ठाकुर को चुनाव मैदान में उतारा और वह भी सांसद बनी। जो शांतनु ठाकुर ओरकांडी...
अगर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और महाअघारी सरकार के मुख्य रणनीतिकारों ने मान लिया था कि परमवीर सिंह को आयुक्त के पद से...
न्यायालय ने यह भी साफ कहा है कि आरिज व उसके साथियों ने इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा की हत्या की थी और पुलिसकर्मियों पर गोली...
उसके बाद अन्य कार्यक्रमों में या सोशल मीडिया से हमें उनके विचार सुनने को मिल रहा है। जिस समय संपूर्ण पार्टी को एकजुट...
इसका अर्थ है कि न्यायालय ने नीरव मोदी को परोक्ष रूप से बहानेबाज और झूठा मान लिया है। न्यायालय ने यह भी कहा कि आपने जो...
मारे गए चीनी सैनिकों का नामा भी सार्वजनिक किया गया है। ये हैं- पीएलए शिनजियांग मिलिट्री कमांड के रेजीमेंटल कमांडर...
पी चिदंबरम देश के गृहमंत्री रहे है। उनके कार्यकाल के दौरान देश में अनेक गिरफ्तारियां आतंकवाद के संदेह में हुईं। इस...
उनका एक ही लक्ष्य है, मोदी सरकार को बदनाम कर इसके खिलाफ देश और विदेश में वातावरण बनाना जिससे इन्हें कहीं समर्थन न मिले...
क्या मोदी 2 सरकार के इस दूसरे बजट को हम इस कसौटी पर खरा पा सकते है? तीन दिनों पूर्व संसद में प्रस्तुत आर्थिक सर्वेक्षण...
इनमें से कोई भी इस हिंसा के लिए स्वयं को दोषी मानने को तैयार नहीं है। अभी भी दिल्ली पुलिस और सरकार को निशाना बनाया जा...
न्यायालय इसके पक्ष में नहीं दिखता। समिति बनाने का उसका कदम इसी दिशा की ओर इशारा कर रहा है। संभवतः न्यायालय इसमें कुछ...
अमेरिका के चरित्र को देखते हुए इस तरह की प्रतिक्रियाएं बिलकुल स्वाभाविक है। हालांकि अब ट्रंप ने कह दिया है कि जो बिडेन...
अलगाववादी तक चुनाव बहिष्कार की घोषणा करने का साहस नहीं दिखा पाए। आखिर जम्मू कश्मीर में 51 प्रतिशत मतदान सामान्य बात...
चुनाव प्रचार के दौरान अपनाए गए तेवरों तथा परिणाम के बाद आ रहीं प्रतिक्रियाओं से इसे काफी हद तक समझा जा सकता है। सच यह...
कोई नहीं कहता कि उस दवा के बारे में स्वामी रामदेव या अन्य लोग जो दावा कर रहे हैं उसे आंख मूंदकर स्वीकार कर लीजिए
भारतीय जमीन पर कब्जे की उनकी कोशिश को विफल कर दिया।
भारत के लिए राहत तभी होती जब ओली सरकार नक्शा वापस लेने की घोषणा करती। ऐसा कुछ हुआ नहीं है।
वैचारिक-सांस्कृतिक-सभ्यतागत और आर्थिक रुप से एक सशक्त भारत के आविर्भाव का मार्ग प्रशस्त हो रहा है।