पं. अशोक पँवार 'मयंक'

सूर्य, वास्तु शास्त्र को प्रभावित करता है इसलिए जरूरी है कि सूर्य के अनुसार ही हम भवन निर्माण करें तथा अपनी दिनचर्या...
आप भोजन कौन सी दिशा में कर रहे हैं, इसका वास्तु के अनुसार बहुत महत्व है और आपके स्वास्थ्य और शरीर पर भी इसका अनुकूल और...
सूर्य ने सोमवार, 16 नवंबर 2020 को वृश्चिक राशि में प्रवेश कर लिया है। आइए जानते हैं सूर्य का वृश्चिक राशि में परिवर्तन किस...
16 नवंबर को भाई दूज का पर्व है। बहनें अपने भाई के माथे पर टीका लगाकर लंबी आयु की कामना करती हैं।
दिवाली के बाद गोवर्धन पूजा का त्योहार 15 नवंबर को मनाया जाएगा। मान्यता है कि इस तिथि पर भगवान कृष्ण ने इंद्रदेव के घमंड...
वृश्चिक राशि वाले लाल चंदन या मूंगे की 108 दानों की माला से लाल ऊन का आसन बिछाकर लक्ष्मीजी का मंत्र जपें।
14 नवंबर, शनिवार को अमावस्या तिथि आरंभ- 14.18 से आरंभ होकर 15 नवंबर, रविवार को अमावस्या तिथि की समाप्ति। सुबह 10.36 पर समाप्त होगी।
भारत से बाहर रहते हैं तो कब करें महालक्ष्मी पूजन, जानिए प्रमुख विदेशों के शुभ मुहूर्त
14 नवंबर, शनिवार 2020 : लक्ष्मीपूजन मुहूर्त देश में कब करें?
कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन ही धन्वंतरि का जन्म हुआ था इसलिए इस तिथि को 'धनतेरस' के रूप में मनाया जाता...
धन्वंतरि को हिन्दू धर्म में देवताओं का वैद्य (चिकित्सक) माना जाता है। ये एक महान चिकित्सक थे जिन्हें देव पद प्राप्त...
धनतेरस के दिन मृत्यु के देवता यमराज और भगवान धन्वंतरि की पूजा का महत्व है। जानिए 7 खास बातें....
इस दिन नए उपहार, सिक्के, बर्तन व गहनों की खरीदारी करना शुभ रहता है। शुभ मुहूर्त समय में पूजन करने के साथ 7 धान्यों की पूजा...
शनिवार, 7 नवंबर 2020 को पुष्य नक्षत्र 8.05.00 से लगेगा, जो रविवार, 8 नवंबर 2020 को 8.45.00 बजे तक रहेगा।
बुधवार, 04 नवंबर 2020 को करवा चौथ पर चंद्रोदय का समय दिल्ली को आधार मानते हुए 8 बजकर 12 मिनट पर निकलेगा।
करवा चौथ 4 नवंबर 2020, बुधवार को सुहागिन महिलाओं द्वारा किया जाएगा। करवा चौथ पर विदेशों में चंद्रोदय का समय निम्नानुसार...
अक्षय तृतीया को 'आखातीज' के नाम से भी जाना जाता है। 'अक्षय' का अर्थ है कभी क्षय न होने वाला। इस दिन कोई भी शुभ कार्य, साधना,...
शनि 25 जनवरी 2020 को अपनी राशि मकर में प्रवेश करेगा। मकर राशि से उसकी तृतीय दृष्टि मीन पर, सप्तम दृष्टि कर्क पर व दशम दृष्टि...
यदि आपका मेष लग्न है तो यह वर्ष आपके लिए नई सौगातों भरा रहेगा। भाग्य आपका साथ देगा, वहीं विद्यार्थी वर्ग के लिए आशाओं...
मूलांक 2 का स्वामी चंद्र है व वर्ष का स्वामी भी चंद्र ही है और दोनों 1 ही ग्रह होने से यह वर्ष आपके लिए मानसिक सुख-शांति...