श्री रामानुज

मेष राशि के जातकों के लिए शनि के उपाय- शनिवार के दिन अपने घर में श्री शिव रुद्राभिषेक करवाएं।
शनिदेव कर्म और सेवा के कारक हैं यानी इसका सीधा-सीधा असर व्यक्ति की नौकरी और व्यवसाय पर होता है। अत: अब नौकरी और व्यवसाय...
शनि न्याय के देवता हैं, वे कर्म और सेवा के कारक हैं। इसलिए शनिदेव का यह मार्ग परिवर्तन सत्ता पक्ष के लिए ठीक नहीं माना...
गणेशजी का नाम हिन्दू धर्म के 5 प्रमुख देवों (पंचदेव) में शामिल है। शास्त्रों में गणेशजी के 12 प्रसिद्ध नाम बताए गए हैं...
भगवान गणेश के पूजन में तुलसी का प्रयोग वर्जित है। वैसे तो तुलसीजी देवीस्वरूपा और प्रात: पूजनीय है लेकिन गणपति पूजन...
हवन करने के लिए जिन लकड़ियों का प्रयोग होता है, उन्हें समिधा कहा जाता है। समिधा के लिए आप कौन से वृक्ष की लकड़ियां प्रयोग...
किसी भी पूजन-पाठ की पूर्ति करने के लिए हवन या होम किया जाना आवश्यक है, परंतु हवन के नियम अनुसार 4 ऐसे तत्व/पदार्थ हैं जिनके...
अमावस्या को पीपल के पेड़ के नीचे दीया जलाने से पितृ और देवता प्रसन्न होते हैं। इस दिन सुबह-शाम घर के मंदिर और तुलसी पर...
अमावस्या के दिन बुरे कार्यों तथा नकारात्मक विचारों से दूरी बनाए रखने में हमारी भलाई है। आइए जानें इस दिन क्या न करें...
राखी बांधने का शुभ मुहूर्त। इन सभी मुहूर्त में अमृत मुहूर्त के समय राखी बांधना बहुत ही फलदायी माना जाता है।
रक्षाबंधन का त्योहार प्रत्येक वर्ष श्रावण माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस वर्ष पूर्णिमा 26 अगस्त 2018, रविवार के दिन...
शिवजी की पूजा से ग्रह बाधा भी दूर होती है। विशेष वस्तुओं से पूजन करने पर विभिन्न फल प्राप्त होते हैं।
सावन माह में शिवपूजन का महत्व है परंतु शिवजी के पूजन तथा शिवलिंग की स्थापना में इन बातों का ध्यान रखा जाना अत्यंत आवश्यक...
विशेष प्रयोजनों वा कार्यसिद्धि की पूर्ति के लिए कुछ विशेष वस्तुओं से बने शिवलिंग की पूजा की जाती है।
शास्त्रों में मनोरथ पूर्ति व संकट मुक्ति के लिए अलग-अलग तरह की धारा से शिव का अभिषेक करना शुभ बताया गया है।
सावन मास के प्रत्येक सोमवार को शिवलिंग पर विशेष वस्तुएं अर्पण की जाती है जिसे शिवामुट्ठी कहते हैं। शिवामुट्ठी अर्पित...
हिन्दू धर्म में बेहद महत्वपूर्ण है अमावस्या, इन जातकों को अवश्य करना चाहिए अमावस्या का उपवास...
चन्द्रग्रहण 27 जुलाई, शुक्रवार की रात को लगेगा। 27 जुलाई को रात 11 बजकर 54 मिनट से शुरू होकर चन्द्रग्रहण सुबह के 3 बजकर 49 मिनट...
मंगल कार्यों को करने के लिए त्याज्य माने गए इन योगों का निर्धारण करने के कुछ नियम बताए हैं, जहां पर इन के होने की स्थिति...
हिन्दू धर्म में बहुधा जातक हाथ पर मौली, कलावा, रक्षासूत्र या पवित्र बंधन बांधते हैं, यह रक्षासूत्र होता है जो जातक को...