21 मई : राजीव गांधी बलिदान दिवस, पढ़ें 10 खास बातें

Rajiv Gandhi
 
अपने नाना से 'आराम हराम है' और अपने पिता से 'अपना काम खुद करो' की प्रेरणा को लेने वाले राजीव गांधी भारत के सबसे युवा प्रधानमंत्री थे।
 
आइए जानें उनके बारे में 10 खास बातें- 
 
1 राजीव गांधी का जन्म मुंबई (बंबई) में 20 अगस्त 1944 को हुआ था।
 
2 राजीव गांधी राजनीति में आने से पहले एयरलाइन पायलट की नौकरी करते थे। 
 
3 राजीव गांधी बचपन में बहुत ही संकोची स्वभाव के थे। जब वे दून स्कूल में पढ़ रहे थे, तब उनके नाना पंडित जवाहरलाल नेहरू पहली बार उनसे मिलने स्कूल पहुंचे तो राजीव बाथरूम की बास्केट में छिप गए थे।
 
4 राजीव गांधी को फ़ोटोग्राफ़ी और रेडियो सुनने का भी ख़ासा शौक़ था।
 
5 40 वर्ष की उम्र में प्रधानमंत्री बनने वाले राजीव भारत के सबसे कम उम्र के युवा प्रधानमंत्री थे। वे भारत के नौवें प्रधानमंत्री थे। वे राजनैतिक दल 'भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस' के लिए समर्पित रहे। 
 
6 राजीव का विवाह इटली की नागरिक एन्टोनिया मैनो से हुआ था, विवाह के उपरांत उनकी पत्नी ने नाम बदलकर सोनिया गांधी कर लिया। उनके दो बच्चे- पुत्र राहुल और पुत्री प्रियंका हैं। 
 
7 राजीव गांधी को हिन्दुस्तानी शास्त्रीय और आधुनिक संगीत पसंद था, उन्हें रेडियो सुनने तथा फोटोग्राफी का भी शौक था। 
 
8 राजीव गांधी को सुरक्षाकर्मियों का घेरा बिलकुल पसंद नहीं था। वे अपनी जीप खुद ड्राइव करना पसंद करते थे।
 
9 इक्कीसवीं सदी के भारत का निर्माण उनका प्रमुख उद्देश्य था। 
 
10 'राजीव गांधी खेल रत्न' भारत का खेल जगत में दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है।
 
21 मई 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरुंबुदूर में चुनाव प्रचार के दौरान लिट्टे के आत्मघाती हमलावरों ने बम हमले में उनकी हत्या कर दी थी। इसी कारण से 21 मई, राजीव गांधी बलिदान दिवस को आतंकवाद वि‍‍रोधी दि‍वस के रूप में भी मनाया जाता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी