शरद सिंगी

सितंबर माह अंतरराष्ट्रीय कूटनीति के लिए बहुत महत्वपूर्ण महीना होता है क्योंकि संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा की बैठक...
अभीत और ऊर्जस्वी मोदीजी की पूंछ में पुलवामा करने वालों ने आग लगाने की गलती क्या कर दी उन्होंने बिना वीसा के ही अपने पवनपुत्रों...
इमरान खान और उनकी पूरी सरकार ने भरसक छाती पीटी दुनिया में भारत को बदनाम करने के लिए किंतु किसी ने उसकी नहीं सुनी। पाकिस्तान...
पंद्रह अगस्त को लद्दाख में जनता के जश्न को यदि आपने टीवी पर देखा हो तो आज़ादी के सही मायने समझ में आए होंगे। अभी तक हमारी...
भारतवर्ष में इस समय इंद्रदेव कहीं तो अपने पूरे रौद्र रूप में विप्लव कर रहे हैं, तो कहीं अमृत बरसा रहे हैं। कृषकों ने...
ब्रिटेन इस समय कठिन दौर से गुज़र रहा है। यह देश दशकों पूर्व यूरोपीय संघ का सदस्य बना था। किसी भी संगठन का सदस्य बनना...
अंतरिक्ष की कोई भी उड़ान होने दो, उस उड़ान का हर क्षण रोमांच से भरपूर होता है। इन उड़ानों में कहानी नहीं होती, उनका तो...
चंद्रयान-2 की उड़ान को लेकर सारे भारतवासी बहुत उत्साहित हैं। 15 जुलाई को प्रक्षेपण का पहला प्रयास किया जाना था किन्तु...
केंद्रीय बजट आने के बाद से भारत के शेयर बाजार का सेंसेक्स भ्रम की स्थिति में है। उसकी दुविधा है कि उत्तर की ओर बढूं या...
जी-20 देशों का सम्मेलन जापान के शहर ओसाका में पिछले दिनों संपन्न हुआ। जी-20 दुनिया के 20 महत्वपूर्ण देशों का ऐसा समूह है,...
यूरोप और मध्य पूर्व में ग्रीष्म ऋतु अपने उफान पर है और वहीं होर्मुज की खाड़ी में भी राजनीतिक तापमान अपनी सीमाएं लांघ...
आम चुनावों से पहले एक आलेख में हमने मोदी सरकार के प्रथम कार्यकाल में मिली कूटनीतिक सफलताओं की चर्चा करते हुए लिखा था...
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक बयान से 'चंदा मामा' पुन: सुर्खियों में आ गए। स्मरण हो तो अमेरिका ने चांद पर अंतरिक्ष...
पिछले अंक में हमने क्षेत्रीय देशों (विशेषकर दक्षिण एशिया) या कहें पड़ोसी देशों पर मोदी की विशाल जीत के राजनीतिक प्रभावों...
भारत में प्रजातंत्र का महाकुंभ एक महाविजय के साथ समाप्त हुआ। चुनावों से पहले हमने मोदी सरकार की पिछले 5 वर्षों की विदेश...
श्रीलंका के क्रूर और वहशी आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के प्रसिद्ध अखबार डॉन के एक वरिष्ठ पत्रकार ने अपने एक लेख में...
जैसा कि हमने पिछले लेख में लिखा था, किसी भी सरकार की सफलता अथवा असफलता के आकलन के लिए जो 2 सबसे महत्वपूर्ण विभाग हैं, वे...
विश्व के सबसे बड़े प्रजातंत्र भारत में चुनावों का महापर्व पूरे जोश पर है। निवृत्त हो रही सरकार की साख दांव पर है, तो...
प्रजातांत्रिक देशों में यह अघोषित सिद्धांत है कि किसी भी राष्ट्र के पदाधिकारी, किसी अन्य प्रजातांत्रिक राष्ट्र के...
चुनावों के दौरान प्रत्येक दल में मीडिया मैनेज करने की जिम्मेदारी अनुभवी लोगों को दी जाती है। पहले जब केवल प्रिंट मीडिया...