श्रवण गर्ग

लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं
ग़ैर-भाजपाई विचारधारा वाले दलों से चुनिंदा नेताओं को भाजपा में शामिल कर विपक्षी सरकारों को गिराने या चुनाव जीतने की...
पता ही नहीं चल पाया हमें, हो गए कब हाथ सुन्न हमारे ! उठ ही नहीं पा रहे हैं झुके कंधों से ऊपर ! उनके हाथ तो रहते हैं हमेशा ऊपर...
जनता अपने प्रधानमंत्री से यह कहने का साहस नहीं जुटा पा रही है कि उसे उनसे भय लगता है।जनता उनसे उनके 'मन की बात', उनके राष्ट्र...
हमें अब एक ऐसे परिदृश्य की कल्पना करना प्रारंभ कर देना चाहिए जिसमें वे सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स (फ़ेसबुक, ट्विटर,...
नरेंद्र मोदी तीस मई को अपने प्रधानमंत्री काल के सात वर्ष पूरे कर लेंगे। कहा यह भी जा सकता है कि देश की जनता प्रधानमंत्री...
कोरोना की तीसरी लहर की चिंता हमें छोड़ देनी चाहिए। हो सकता है इसके बाद हमें किसी चौथी और पांचवीं लहर को लेकर डराया जाए।...
सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म 'ट्विटर' पर किसी आलोचक ने ट्वीट किया था कि: '2014 में जिसके पास हर समस्या का हल था, वही आदमी आज देश...
जिस समय देश के करोड़ों-करोड़ नागरिकों के लिए एक-एक पल और एक-एक सांस भारी पड़ रही है, सरकारें महीने-डेढ़ महीने थोड़ी राहत...
कोरोना महामारी से हो रही मौतों के बीच सोशल मीडिया पर कुछ नागरिक समूहों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस्तीफ़े...
दो लाख से ज़्यादा कोरोना अभागों की दुर्भाग्यपूर्ण विदाई के बीच बंगाल के प्रतिष्ठापूर्ण चुनावों में हुई सिर्फ़ 'एक'...
हमारी ही जमात के एक सीनियर और किसी जमाने में साथ भी काम कर चुके पत्रकार ने हाल में एक विवादास्पद मांग सोशल मीडिया प्लेटफ़ार्म...
देश इस समय एक अभूतपूर्व संकट से गुजर रहा है। इसे हमारे राजनीतिक नेतृत्व की खूबी ही माना जाना चाहिए कि जो कुछ भी चल रहा...
बात कोरोना महामारी को लेकर है। शुरुआत गुजरात से की जानी चाहिए। गुजरात के कथित 'विकास मॉडल' को ही अपने मीडिया प्रचार की...
देश में बंगाल के बाहर बड़ी संख्या में ऐसे लोग भी हैं, जो इस सच्चाई के बावजूद ममता बनर्जी को जीतता हुआ देखना चाहते हैं...
लोगों की यह जानने की भारी उत्सुकता है कि बंगाल चुनावों के नतीजे क्या होंगे? ममता बनर्जी हारेंगी या जीत जाएंगी? सवाल वास्तव...
कोलकाता से निकलने वाले अंग्रेज़ी के चर्चित अख़बार ‘द टेलिग्राफ’ के सोमवार (29 मार्च,20121) के अंक में पहले पन्ने पर एक ख़ास...
देश के पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों के ठीक पहले जारी हुए दो सर्वेक्षणों में बताया गया है कि पश्चिम बंगाल...
बातचीत की शुरुआत यहां से करते हैं कि 30 जनवरी 1948 के दुर्भाग्यपूर्ण दिन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या एक कट्टर हिंदू...
देश इस समय एक नए क़िस्म की व्यवस्था की स्थापना के प्रयोग से गुजर रहा है! व्यवस्था यह है कि नागरिकों को शासन के निर्णयों,...
कोलकाता के ब्रिगेड मैदान की सभा में उपस्थित लाखों के जनसमूह को देखकर अगर प्रधानमंत्री ने यह कहा कि उन्होंने अपने जीवन...