अनिरुद्ध जोशी

ज्योतिष, धर्म और योग के अलावा समसामयिक विषयों पर लेखन
मीन राशि (Pisces) का स्थान दोनों पाँव में होता है। इसके कारक ग्रह सूर्य, मंगल और गुरु माने गए हैं। जल तत्व प्रधान मीन राशि...
वृश्चिक राशि (Scorpion) का स्थान लिंग एवं गुदा में होता है। इसके कारक ग्रह चंद्र, मंगल और गुरु माने गए हैं। जल तत्व प्रधान वृश्चिक...
कुंभ राशि (Aquarius) का स्थान पिंडली में होता है। इसके कारक ग्रह गुरु, शुक्र और शनि माने गए हैं। वायु तत्व प्रधान कुंभ राशि...
मकर राशि (Capricornus) का स्थान दोनों घुटनों में होता है। इसके कारक ग्रह बुध, शुक्र और शनि माने गए हैं। पृथ्वी तत्व प्रधान मकर...
लाल किताब को प्रचलित ज्योतिष ज्ञान से हटकर व्यावहारिक ज्ञान माना जाता है। लाल किताब के विशेषज्ञों अनुसार वैसे तो कुंडली...
लाल किताब के सिद्धांत के अनुसार संक्षिप्त में ग्रह दोष से उत्पन्न रोग और उसके निवारण आदि की जानकारी यहाँ प्रस्तुत कर...
पुराणों अनुसार बुध ग्रह का वाहन सिंह है और इनकी तुलना शक्ति से की गई है। जिस प्रकार भक्तों का दुख: हरने हेतु भगवती दुर्गा...
सिंह राशि (Leo) का स्थान पेट में होता है। इसके कारक ग्रह सूर्य और मंगल माने गए हैं। अग्नि तत्व प्रधान सिंह राशि का स्वामी...
धनु राशि (Sagittarius) का स्थान जाँघ में होता है। इसके कारक ग्रह चंद्र और गुरु माने गए हैं। वायु तत्व प्रधान धनु राशि का स्वामी...
संगीत, कला और सौंदर्य। वृषभ (Taurus) का स्थान मुख में होता है। इसके कारक ग्रह बुध, शुक्र और शनि माने गए हैं। पृथ्वी तत्व प्रधान...
तुला राशि (Libra) का स्थान मूत्राशय में होता है। इसके कारक ग्रह बुध, शुक्र और शनि माने गए हैं। वायु तत्व प्रधान तुला राशि...
कन्या राशि (Virgo) का स्थान कमर में होता है। इसके कारक ग्रह बुध और शुक्र माने गए हैं। अर्थ तत्व प्रधान कन्या राशि का स्वामी...
कर्क राशि (Cancer) का स्थान हृदय में होता है। इसके कारक ग्रह चंद्र और मंगल माने गए हैं। जल तत्व प्रधान कर्क राशि का स्वामी...
मेष (Aries) का स्थान मस्तक में होता है। इसके कारक ग्रह मंगल, सूर्य और गुरु माने गए हैं। अग्नि तत्व प्रधान मेष राशि का स्वामी...
द्रौपदी पांचाल देश के राजा द्रुपद की कन्या थी। इसलिए उन्हें पांचाली भी कहा जाता था। राजा द्रुपद ने द्रौपदी को कुरु...
महाभारत की शिक्षा हर काल में प्रासंगिक रही है। महाभारत को पढ़ने के बाद इससे हमें जो शिक्षा या सबक मिलता है, उसे याद रखना...
कुंडली के प्रत्येक भाव या खाने अनुसार बुध के शुभ-अशुभ प्रभाव को लाल किताब में विस्तृत रूप से समझाकर उसके उपाय बताए गए...
कुंडली के प्रत्येक भाव या खाने अनुसार शुक्र के शुभ-अशुभ प्रभाव को लाल किताब में विस्तृत रूप से समझाकर उसके उपाय बताएं...
कुंडली के प्रत्येक भाव या खाने अनुसार केतु के शुभ-अशुभ प्रभाव को लाल किताब में विस्तृत रूप से समझाकर उसके उपाय बताए...
राहु को हाथी की उपाधि दी गई है। कुंडली के प्रत्येक भाव या खाने अनुसार राहु के शुभ-अशुभ प्रभाव को लाल किताब में विस्तृत...