पं. हेमन्त रिछारिया

ज्योतिर्विद पं. हेमन्त रिछारिया ज्योतिष प्रभाकर उपाधि से सम्मानित हैं। विगत 12 वर्षों से ज्योतिष संबंधी अनुसंधान एवं ज्योतिष से जुड़ी गलत धारणाओं का खंडन कर वास्तविक ज्योतिष के प्रचार-प्रसार में योगदान दे रहे हैं। कई ज्योतिष आधारित पुस्तकों का लेखन।
हमारे शास्त्रों में गुरु व शुक्र का उदय व अस्त होना बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। गुरु एवं शुक्र के अस्त स्वरूप होने...
वर्ष 2018 में देवउठनी एकादशी पर विवाह संपन्न नहीं होंगे क्योंकि इस बार देवउठनी एकादशी पर गुरु का तारा अस्त स्वरूप रहेगा।
'वेबदुनिया' के पाठकों के लिए 'पाक्षिक-पंचाग' श्रृंखला में प्रस्तुत है कार्तिक शुक्ल पक्ष का पाक्षिक पंचांग-
गिरिराज गोवर्धन उत्तरप्रदेश के मथुरा जिले से लगभग 22 किमी की दूरी पर स्थित है। गिरिराज गोवर्धन पर्वत 21 किमी के परिक्षेत्र...
दीपावली के दूसरे दिन अन्नकूट मनाया जाता है। अन्नकूट का अर्थ है -अन्न का ढेर। आज ही के दिन योगेश्वर भगवान कृष्ण ने इंद्र...
दरिद्रता मनुष्य के लिए अभिशाप है। इस संसार में कई ऐसे व्यक्ति हैं जो अथक परिश्रम करने के उपरांत भी धनार्जन करने में...
दीपावली के दिन इस एकाक्षी नारियल प्रयोग को करके अपने जीवन में आर्थिक संकटों से मुक्त हो सकते हैं।
महालक्ष्मी पूजन स्थिर लग्न में अति उत्तम रहता है। इससे स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। वृष, सिंह, वृश्चिक व कुंभ...
आइए जानते हैं वे धनप्रदायक वस्तुएं कौन सी हैं जो दीपावली अपने घर लाकर पूजा करने से आपको धनलाभ करा सकती हैं।
भाईदूज के दिन बहनें अपने भाई को निमन्त्रित कर उन्हें अपने हाथों से बना स्वादिष्ट भोजन कराएं और तिलक करें। भोजन के उपरान्त...
समुद्र मंथन के उपरांत धनत्रयोदशी के दिन ही भगवान धन्वंतरि अपने हाथों में अमृत कलश लिए प्रकट हुए थे। धन्वंतरि भगवान...
मंगल का कुंभ राशि में प्रवेश समस्त 12 राशियों के जातकों के लिए कैसा रहेगा- मेष, कन्या और धनु राशि के लिए यह लाभप्रद है तथा...
हमारे शास्त्रों में व्रत का विशेष महत्व बताया गया है। व्रत करने से एक ओर जहां हमारे अभीष्ट की सिद्धि होती है वहीं शारीरिक...
हम 'वेबदुनिया' के पाठकों के लिए क्रमश: समस्त 12 राशियों व उन राशियों में जन्मे जातकों के व्यक्तित्व के गुण-दोष की जानकारी...
'वेबदुनिया' के पाठकों के लिए 'पाक्षिक-पंचाग' श्रृंखला में प्रस्तुत है कार्तिक कृष्ण पक्ष का पाक्षिक पंचांग-
ज्योतिष शास्त्र में सूर्य को नवग्रहों का राजा कहा गया है। 18 अक्टूबर 2018 से सूर्य ने गोचरवश अपनी नीचराशि तुला में प्रवेश...
आइए जानते हैं कि शमी वृक्ष का पूजन किस प्रकार किया जाना श्रेयस्कर रहता है-
भक्त और भगवान के मध्य ना तो मंदिर की आवश्यकता है और ना ही किसी विशिष्ट कर्मकाण्ड या पूजा-पद्धति की। भक्त और भगवान के...
आइए जानते हैं कि सप्तशती के संपूर्ण तेरह अध्यायों की विशेष आहुतियां कौन-सी हैं-
हिन्दू वर्ष में चैत्र, आषाढ़, आश्विन, और माघ, मासों में चार बार नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है जिसमें दो नवरात्र को 'प्रकट'...