इन 5 तरीकों से लगा सकते हैं पैनिक अटैक पर रोक

सोमवार, 25 जनवरी 2021 (14:36 IST)
पैनिक अटैक कभी भी और किसी को भी हो सकता है। यह खासतौर से तब होता है जब हम किसी मुश्‍कि‍ल हालत में होते हैं, स्‍ट्रेस और प्रेशर के दौरान।

ऐसे समय पर व्यक्ति को अपने ऊपर बिलकुल काबू नहीं रहता है और यह दिल दहलाने वाली अवस्था होती है।
अगर किसी को एक बार पैनिक अटैक आता है तो संभव है कि आगे चलकर भी उसे ऐसे अटैक होते रहते हैं।
पैनिक अटैक का समाना करते समय याद रखने वाली 5 बातें जो हो सकता है कि आपके पैनिक अटैक को रोकने में कारगर साबि‍त हो।

– यह समझें कि आपको पैनिक अटैक हो रहा है
किसी बीमारी में सबसे पहले यह जानना जरूरी होता है कि वह क्या है और किस वजह से होती है। आपको यह जान लेना जरूरी है कि पैनिक अटैक चाहें जितना भी डरावना क्यों न हो इसकी वजह से मौत नहीं होती।

पैनिक अटैक एक आम समस्या है जो अक्सर रक्तधारा में अधिक एड्रेनलिन होने के कारण होती है।
यह डर की वजह से शुरू होता है। अक्सर यह डर तर्कहीन होता है। ज्यादातर हमें पता भी नहीं होता है कि क्यों डर लग रहा है या उस पर कैसे काबू पाया जाये।

पैनिक अटैक के लक्षण पैनिक अटैक को रोकने का तरीका
पैनिक अटैक को शांत करने और रोकने के लिए सांस पर नियंत्रण करना बहुत जरूरी है। पैनिक अटैक के समय अपनी सांस को नियमित करने की कोशिश करके हम अपने हृदय की धड़कन को तेज़ होने से रोक सकते हैं।

पैनिक अटैक के शारीरिक लक्षण दिखाई देते हैं तो आप किसी शांत जगह पर जाकर बैठ जायें। यदि आप कसे हुए कपड़े या जैकेट वगैरह पहने हुए हैं तो बटन खोलें या उनको उतारें ताकि आपको बंधा हुआ न महसूस हो।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी