सुशील कुमार शर्मा

वरिष्ठ अध्यापक, गाडरवारा
भोपाल गैस कांड पर कविता- हर कोई नीलकंठ, तो नहीं हो सकता जो निगल ले, उस हलाहल को,
दीपावली के दिन गांव के सभी बच्चे दीवाल फोड़िया पटाखों के साथ उधम मचाते हुए गांव के कई चक्कर लगाते थे। बाजार से दादी हम...
सर्वकालिक महान विद्वान प्रकांड पंडित भविष्यवेत्ता महान वैज्ञानिक तीनों लोकों में मेरे जैसा वीर कोई नहीं था।
बोझिल मन अकेला खालीपन बढ़ती उम्र। सारा जीवन तुम पर अर्पण अब संघर्ष।
शिक्षकों का बदलाव की क्षमता से युक्त होना अनिवार्य है। अध्यापन प्रमाण पर आधारित व्यवसाय होना चाहिए और कि इससे बच्चों...
शहर छोड़ नानी घर आए। कूद नदी में खूब नहाए। पत्थर मार आम गिराए। नानी से सब सुनी कहानी। ठंडा है मटके का पानी।
भगवान नरसिंह में वे सभी लक्षण थे, जो हिरण्यकश्यप के मृत्यु के वरदान को संतुष्ट करते थे। भगवान नरसिंह द्वारा हिरण्यकश्यप...
पृथ्वी मेरी मां की तरह चिपकाए हुए है मुझे अपने सीने में।मेरे पिता की तरह पूरी करती है मेरी मेरे पिता की तरह
हे विप्र शिरोमणि परशुराम, मैं तुम्हें बुलाने आया हूं। अपने हृदय की व्यथा कथा, तुमको बतलाने आया हूं।
भगत सिंह एक प्रखर देशभक्त और अपने सिद्धांतों से किसी भी कीमत पर समझौता न करने वाले बलिदानी थे। भगत सिंह के जो प्रत्यक्ष...
नारी का सम्मान, बचाना धर्म हमारा, सफल वही इंसान, लगे नारी को प्यारा। जीवन का आधार, हमेशा नारी होती,
मां-बेटी-पत्नी-बहन, नारी रूप हजार, नारी से रिश्ते सजे, नारी से परिवार। नारी बीज उगात है, नारी धरती रूप,
नारी का अभिमान, प्रेममय उसका घर है, नारी का सम्मान, जगत में उसका वर है।
नारी तुम स्वतंत्र हो, जीवन धन यंत्र हो। काल के कपाल पर, लिखा सुख मंत्र हो। सुरभित बनमाल हो, जीवन की ताल हो।
चाहे कितना भी तुम मना करो, मान भी जाओ कि तुम मेरी हो। तपते जीवन की धूपों में, तुम शीतल छांव घनेरी हो।
जिस दिन से घर में आती हैं बेटियां, माता-पिता की इज्जत बन जाती हैं बेटियां। भारत के विकास की डोर थामे हैं बेटियां,
मानव अधिकारों में आर्थिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक अधिकारों के समक्ष समानता का अधिकार एवं शिक्षा का अधिकार आदि नागरिक...
हिन्दी दिवस पर हिन्दी कविता- हिन्दी दिवस, सुना-सुनाया-सा नाम लगता है। अच्छा आज हम हिन्दी पर, हिंग्लिश में बात करेंगे।
चंद्रशेखर आजाद पर हिन्दी कविता- तुम आजाद थे, आजाद हो, आजाद रहोगे, भारत की जवानियों के तुम खून में बहोगे।
देशप्रेम, वीरता और साहस की एक ऐसी ही मिसाल थे शहीद क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद। 25 साल की उम्र में भारतमाता के लिए शहीद...