राजश्री कासलीवाल

क्या आपने कभी बेसन के गट्टे की सब्जी बनाई या खाई हैं, अगर नहीं तो आप भी अवश्य ट्राय कीजिए। स्वाद के मामले में एकदम हटके...
सबसे पहले हरे प्याज को बारीक काट लें। 2 छोटे चम्मच तेल गरम करके राई-जीरा तड़काएं और कटी हरी मिर्च डाल दें।
दीपावली पर्व के बाद आने वाली कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी को लाभ पंचमी के नाम से जाना जाता है। इस वर्ष यह तिथि 12...
सर्वप्रथम दाने को साफ कर लें। अब एक पतेले में बेसन लेकर सभी मसाले मिलाकर गाढ़ा घोल तैयार कर लें। तैयार घोल में 2 छोटे...
भगवान महावीर का संपूर्ण जीवन तप और ध्यान की पराकाष्ठा है इसलिए वह स्वतः प्रेरणादायी है। भगवान के उपदेश जीवनस्पर्शी...
शिर्डी स्थित श्री साईं बाबा महा समाधि के 100 वर्ष पूर्ण हो गए हैं। सन् 1918 में जब 15 अक्टूबर को दशहरा आया था, उस दशहरे के दिन...
दशहरे का दिन खास तौर पर साईं की आराधना और उनके मंत्रों का जाप करना बहुत ही लाभकारी होता है। उनके इन चमत्कारी मंत्रों...
आश्विन शुक्ल दशमी को मनाए जाने वाला त्योहार विजयादशमी या दशहरा के नाम से प्रचलित है। यह त्योहार वर्षा ऋतु की समाप्ति...
शाही क्रिस्पी गुलगुले बनाने के लिए सबसे पहले आटा और बेसन छान लें। अब आटे में बेसन अच्छी तरह मिला लें।
पाव कटोरी बेसन, 250 ग्राम बारीक कटे प्याज, 1 चम्मच लालमिर्च, थोड़ी-सी हल्दी, बैकिंग पावडर 1 चुटकी
प्रतिवर्ष भाद्रपद माह की पूर्णिमा से आश्विन मास की अमावस्या तक अर्थात् पूरे श्राद्ध पक्ष में सोलह दिनों तक संजा पर्व...
आश्विन मास की कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा से लेकर अमावस्या तक पूरे 16 दिनों तक पूर्वजों का तर्पण किया जाता है। ऐसी मान्यता...
इस भागदौड़ भरी जिंदगी में किसी को भी क्रोध आना या गुस्सा होना साधारण है, क्योंकि आजकल हर कोई व्यक्ति जीवन में इतना उलझ...
शांति और समता आत्मा का स्वाभाविक धर्म है, जो कभी नष्ट नहीं हो सकता। सिर्फ जैन धर्म ही हमें क्षमा भाव रखना नहीं सिखाता...
गणेश विसर्जन पर राजस्थानी शाही चूरमा मोदक बनाने के लिए सबसे पहले गेहूं का आटा छलनी से छानकर मोयन डालकर गुनगुने पानी...
भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को वामन द्वादशी या वामन जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष यह व्रत 21 सितंबर...
दशावतार व्रत प्रतिवर्ष भाद्रपद शुक्ल दशमी तिथि के दिन किया जाता है। इस वर्ष यह व्रत 19 सितंबर 2018, गुरुवार को किया जाएगा।
हिन्दू धर्म में विभिन्न देवताओं के अवतार की मान्यता है। भगवान श्रीहरि विष्‍णु ने धर्म की रक्षा हेतु हर काल में अवतार...
ऋषि पंचमी से दिगंबर जैन समाज के दशलक्षण महापर्व शुरू हो गए है। इस पर्व के अंतर्गत 19 सितंबर 2018, गुरुवार को सुगंध दशमी पर...
प्राचीन काल में एक परम तपस्वी हुए, जिनका नाम महर्षि दधीचि था। उनके पिता एक महान ऋषि अथर्वा जी थे और माता का नाम शांति...