प्रज्ञा मिश्रा

प्रज्ञा मिश्रा, स्वतंत्र लेखिका हैं। लंदन में निवास करती हैं, चिकित्सा व्यवसाय से जुडीं हैं।
कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को लेकर वेबदुनिया देश के साथ-साथ विदेशों में चिकित्सा सेवा में लगे कोरोना योद्धाओं से भी...
नहीं चाहिए हमें यह एक दिन का एहसान। यह दिखावा ज्यादा तकलीफ देता है बजाय साल भर के उस दोयम दर्जे के जीवन से..... अगर कुछ बदलना...
विक्टर ह्यूगो ने 1862 में (Les Miserables) लिखा था जिसे अगर अनुवाद करें तो वो गरीब लोग, वो बेदखल लोग, या ऐसा ही कुछ शीर्षक बनेगा। जब...
फ्रांस की कल्चरल मिनिस्ट्री ने 1907 में फ्रेंच भाषा को बढ़ावा देने के लिए इंस्टीट्यूट फ्रांस का बीज बोया था और धीरे-धीरे...
कायाकल्प का सही मायनों में नजारा देखना हो तो कान फिल्म फेस्टिवल शुरू होने के 1 दिन पहले यहां पहुंच जाइए। पिछली कॉन्फ्रेंस...
यह महिला दिवस की शुरुआत न्यूयॉर्क में फैक्ट्री में काम करने वाली महिलाओं की हड़ताल को ख़तम करने से लेकर जो शुरू हुई तो...
वर्ल्ड सिनेमा का नशा ही कुछ इस तरह का है कि यह लत छूटती नहीं है और इसका कोई इलाज भी नहीं है। और यही वजह है कि दिन भर में...
इस साल कान फिल्म फेस्टिवल में 2 फिल्में ऐसी हैं जिनके डायरेक्टर्स को अपने ही देश में नज़र बंदी में रखा हुआ है।
ईरान के फिल्मकार असग़र फ़रहादी, जो एक नहीं दो दो बार ऑस्कर भी जीत चुके हैं, की फिल्म से फेस्टिवल की शुरुआत हुई। लेकिन उसके...
कान फिल्म फेस्टिवल का यह इकहत्तरवां (71) साल है। .और इस पकी उम्र में कान फेस्टिवल के आयोजकों ने एक पुराना झगड़ा ख़तम किया...
फेस्टिवल में अलग अलग सेक्शंस में कई फिल्में हैं लेकिन हर खांचे में आतंकवाद से जुडी कोई न कोई कहानी मौजूद है। और अगर फिल्में...
रविवार की शाम ग्रैंड थिएटर लुमियर में इस साल के फेस्टिवल के अवार्ड्स दिए गए। रेड कॉरपेट पर जितनी चमक मुमकिन हो सकती...
FTII ने पहली बार किसी स्टूडेंट की फिल्म को फेस्टिवल में भेजा है। पायल कपाड़िया अभी तीसरे साल की स्टूडेंट हैं, और इससे पहले...
जूड मूलतः श्रीलंका के हैं, तमिल हैं और इस फिल्म के जरिये उस कहानी को कह रहे हैं जो लोगों के अंदर तो मौजूद है लेकिन न कोई...
प्रेस कॉन्फ़्रेस के तुरंत बाद ही फेस्टिवल ने साफ़ कर दिया कि लार्स 'पर्सोना नॉन ग्राटा' हैं जिसका सीधा मतलब है आप यहां...
कान फिल्म फेस्टिवल में अब्बास किरोस्तामी की फिल्म '24 फ्रेम्स' दिखाई जा रही है। फिल्म इसलिए बहुत ज्यादा ख़ास है कि अब्बास...
2017 में नंदिता दास एक बार फिर कान फिल्म फेस्टिवल में मौजूद हैं। इस बार वह अपनी बन रही फिल्म 'मंटो' के कुछ दृश्य दिखा कर पानी...
एक तरफ ऐश्वर्या का फोटो है और दूसरी तरफ शबाना आज़मी ने 1976 का फोटो ट्विटर पर लगाया है जिसमें उनके साथ स्मिता पाटिल और श्याम...
इस साल भी उन फिल्मकारों की फिल्में हैं जो कान फेस्टिवल में पहले न सिर्फ अपनी फिल्म दिखा चुके हैं बल्कि अवॉर्ड भी जीत...
कान फिल्म फेस्टिवल में असली झंडा बरदार तो वह लड़कियां, वह महिलाएं हैं जो अकेले न सिर्फ फिल्म बना रही हैं, फिल्म प्रोड्यूस...